ताजा खबरझुंझुनू

पूर्व छात्रसंघ अध्यक्ष का मर्डर,  छात्रसंघ चुनावी रंजिश बताई जा रही है वजह jhunjhunu news

रिपोर्टर-विकास कनवा 8104481167

राकेश झाझडिय़ा रहे चुके है सेठ मोतीलाल कॉलेज में छात्रसंघ अध्यक्ष,

झुंझुनूं की सेठ मोतीलाल कॉलेज के पूर्व छात्रसंघ अध्यक्ष राकेश झाझडिय़ा की पीट पीट कर हत्या कर दी गई। हत्या की वजह छात्रसंघ चुनाव की रंजिश को बताया जा रहा है। शुक्रवार देर  रात भडौंदा के पास कैम्पर में सवार होकर आए कुछ युवकों ने राकेश झाझडिय़ा पर हमला किया था। शव बीडीके अस्पताल की मॉर्च्यूरी में रखा हुआ है। परिजन और छात्र संगठन एसएफआई के छात्र नेता आरोपियों के गिरफ्तार करने की मांग कर रहे हैं। आरोपियों की गिरफ्तारी के बाद ही पोस्टमार्टम करवाने की बात कही जा रही है। बीडीके अस्पताल में काफी संख्या में लोग मौजूद है।
भड़ौंदा निवासी और झुंझुनूं के सेठ मोतीलाल कॉलेज के पूर्व छात्रसंघ अध्यक्ष राकेश झाझडिय़ा शुक्रवार रात को अपने साथी संजीव कुमार के साथ था। वह काटली नदी पर भडौंदा में स्थित काटली रिसोर्ट से अपने गांव जा रहा था।
जैसे वह सडक़ पर चढ़ा तो सामाने एक कैंपर गाड़ी खड़ी थी कैम्पर ने राकेश की कार को टक्कर मार दी। जैसे वह पीछे की ओर गाड़ी ले जाने लगा तो पीछे भी एक कैम्पर थी। उसने टक्कर मार दी। राकेश झाझडिय़ा की कार को रोककर उसको कार से नीचे उतार लिया। राकेश और उसके साथी संजीव झाझडिय़ा के साथ मारपीट की।
राकेश को सरियों और लाठियों से पीटा गया। उसको मरा हुआ समझकर छोड़ गए। साथी संजीव ने परिजनों को सूचना दी। गांव से राकेश पिता और कुछ लोग गाड़ी लेकर मौके पर पहुंचे। इसके बाद राकेश झाझडिय़ा को झुंझुनूं के बीडीके अस्पताल में लाया गया। यहां पर डाक्टरों ने मृत घोषित कर दिया।

चुनावी रंजिश में हत्या की बात आ रही है सामने
पूर्व छात्र संघ अध्यक्ष राकेश झाझड़िया छात्र संगठन एसएफआई से जुड़ा हुआ था। राकेश ने अभी हुए चुनाव में पूरी तरह से हिस्सा लिया था। आरआर मोरारका कॉलेज में एसएफआई का कैंडिडेट ने जीत हासिल की है। एसएफआई जिलाध्यक्ष पंकज गुर्जर ने बताया कि राकेश की हत्या चुनावी रंजिश में की गई है। छात्रसंघ चुनावों से लगातार उन्हें धमकियां दी जा रही थी। छात्रसंघ चुनावों के दौरान भी मारपीट की कोशिश की गई थी।

इन पर लगा हत्या का आरोप
पूर्व सरपंच संजीव तोगड़ा कलां और राकेश झाझडिय़ा के साथी संजीव ने बताया कि हमला करने वालों में कोतवाली थाने के हिस्ट्रीशीटर देशबंधु, दिनेश मालसरिया, गब्बर, राजू फौजी नरसिंहपुरा, मोरारका कॉलेज  में अध्यक्ष पद का प्रत्याशी सचिन सोहू, विश्वबंधु, मंजीत झाझडिय़ा, प्रदीप मंगावा, रवि बलौदा आदि शामिल थे।

आरोपियों को गिरफ्तार करने की मांग
राकेश झाझडिय़ा का शव बीडीके अस्पताल में रखा हुआ है। परिजन और नेता आरोपियों को गिरफ्तार करने की मांग कर रहे हैं। शव का पोस्टमार्टम नहीं करवाया जा रहा है। काफी संख्या में लोग झुंझुनूं के बीडीके अस्पताल में मौजूद है। सभी आरोपियों को गिरफ्तार करने की मांग की जा रही है। बगड़ थानाधिकारी ने श्रवण कुमार ने बताया कि आरोपियों की तलाश की जा रही है। पुलिस टीमें आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए काम कर रही है। 

अन्य खबर

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button
error: Content is protected !!