ताजा खबरअपराधउदयपुरवाटीगुढ़ागोरजीझुंझुनूराजनीतिशिक्षाहादसा

पुलिस की मदद के लिए लगाए गए लाखों रुपए के सीसीटीवी कैमरे बने खिलौनें

रिपोर्टर – विकास कनवा8104481167

उदयपुरवाटी कस्बे में पिछली सरकार में पूर्व विधायक शुभकरण चौधरी द्वारा विधायक कोटे से पांच लाख की लागत से सीसीटीवी कैमरे लगाए थे। लेकिन देखरेख के अभाव में सारे कमरे खराब हो गए।इसके बाद वर्तमान मे नगर पालिका के द्वारा पुलिस की मदद के लिए कस्बे में जगह-जगह लाखों रुपए के टेंडर कर सीसीटीवी कैमरे लगाए थे। गौरतलब है कि 5 महीने पहले लाखों रुपए के टेंडर हुए थे।जिसमें कस्बे के पांच बत्ती, पोस्ट ऑफिस, शाकंभरी गेट, घूमचक्कर ,सब्जी मंडी, तीन नंबर चुंगी, सहित कई जगह पर सीसीटीवी कैमरे लगाए हैं। लेकिन ठेकेदार ने टेंडर में हुए कैमरे की जगह पर घटिया किस्म के कैमरे लगा दिए। जो दो महीने बाद पूरी तरह बंद हो गए और खराब हो गए। सीसीटीवी कैमरा का कंट्रोल उदयपुरवाटी पुलिस थाने में रखा गया था सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार सीसीटीवी कैमरा की देखरेख नहीं होने व घटिया किस्म के कैमरे

लगाने से कैमरे मात्र दो महीने भी नहीं चले जिसके चलते नगर पालिका में लाखों रुपए के हुए टेंडर में सीसीटीवी कैमरे लगाने वाले ठेकेदार ने घटिया किस्म के कैमरे लगा दिए। जहां कई जगह सीसीटीवी कैमरा से तार हेट पड़े हैं तो कई जगह सीसीटीवी कैमरे खराब पड़े हैं। और कई जगह सीसीटीवी कैमरे लगे है।तो उनमें वीडियो सही कैप्चर नहीं हो रही है। नगर पालिका की ओर से लाखों रुपए खर्च कर पुलिस की मदद के लिए लगाए गए सीसीटीवी कैमरे की पोल खुलती नजर आ रही है।लगातार उदयपुरवाटी कस्बे में बढ़ रही चोरी की घटनाओं में पुलिस कस्बे में निजी लोगों के कैमरे से मदद ली रही है। जिसके चलते पुलिस को आरोपियों तक पहुंचने में काफी कठिनाइयों का सामना करना पड़ रहा है। नगर पालिका के लाखों रुपए खर्च करने

के बावजूद भी सीसीटीवी कैमरे खिलौने बने हुए हैं। आज यह सीसीटीवी सही हालत में होते तो अब तक घूमचक्कर पर हुई वीवो शोरूम में 15 लाख रुपए के मोबाइल चोरी मामले में आरोपियों तक पहुंच जाती। लेकिन सीसीटीवी कैमरे खराब होने की वजह से पुलिस को भारी कठिनाइयों का सामना करना पड़ रहा है। हालांकि पुलिस अपने स्तर पर अलग-अलग एंगल से मामले में कार्रवाई करने में लगी हुई है। नगर पालिका सीसीटीवी कैमरा ठेकेदार की ओर से लगाए गए घटिया किस्म के कैमरे

की जांच होनी चाहिए। और टेंडर के अनुसार कैमरें सही नहीं लगाने वाले ठेकेदार के खिलाफ भी कार्रवाई होनी चाहिए। चलो अब आपको हुई चोरिया के बारे में बताते हैं। कस्बे में हुई चोरियों की वारदात पहली चोरी पांच बत्ती पर एक ज्वेलरी की दुकान पर चोरी हुई थी जिसमें 10000 हजार नगद व एक किलों चांदी के आभूषण चोरी कर ले गए थे।जिनका अभी तक कोई सुराग नहीं लगा है।वहीं दूसरी तरफ रविवार की रात को हुई वीवो मोबाइल शोरूम में तकरीबन 15 लाख रुपए की चोरी मामले में तीन दिन बीच जाने के बाद भी कोई सुराग नहीं लगा है। इससे पहले जमात में परचून की दुकान में अज्ञात बदमाशों ने पेट्रोल डालकर दुकान को आग लगा दी। जिसमें दुकान में 5 से 6 लाख रुपए का माल जलकर राख हो गया। वही आए दिन इस तरह की छोटी वारदातें कस्बे में हो रही है जिनकी कोई गिनती नहीं है। नगर पालिका की ओर से लगाए गए लाखों रुपए के सीसीटीवी कैमरे सही होते तो आखिर एक न एक घटना के चोर पुलिस की गिरफ्त में होते हैं।

अन्य खबर

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: Content is protected !!